हार का डर ऐसा सता रहा है की बिगड़ने लगे है चरणदास महंत के बोल: मंत्री देवांगन

Views


0 दर्री मंडल के विभिन्न क्षेत्रों में मंत्री देवांगन ने ली नुक्कड़ सभा


कोरबा। दर्री के पुरानी बस्ती में आयोजित नुक्कड़ सभा को संबोधित करते हुए वाणिज्य, उद्योग और श्रम मंत्री लखन लाल देवांगन ने कहा कि कांग्रेस की हार अब उनके बयानों में साफ तौर पर दिखने लगी है। कभी अपने कार्यकर्त्वों को जूते मारने की बात कर रहे हैं तो कभी हमारे देश के माननीय प्रधानमंत्री जी के खिलाफ भी अनर्गल बयानबाजी कर रहे हैं।

    दर्री मंडल में मंत्री  देवांगन ने तीन वार्डों में नुक्कड़ सभा ली।  पुरानी बस्ती दर्री में मंत्री  देवांगन ने कहा पांच साल से जनता से दूरी, और कमीशनखोरी की वजह से यहां की सांसद को जनता ने इस बार पूरी तरह से बेदखल करने का ठान लिया है। मंत्री देवांगन ने कहा की सांसद के पति डॉ चरणदास महंत अपनी सरकार में विधानसभा अध्यक्ष थे, इनको विकास करने के लिए किसने रोका था। अब महंत परिवार जब जनता के बीच जा रही है, तो उनको विरोध का का सामना करना पड़ रहा है।इसी विरोध की वजह से अब नेता प्रतिपक्ष उलजलूल बयान दे रहे हैं। उनको अपनी अब तक की सबसे बड़ी हार का डर सता रहा है। इस अवसर पर दर्री मंडल के अध्यक्ष ईश्वर साहू, पूर्व पार्षद डॉ आर सी पांडेय, पूर्व मंडल अध्यक्ष तुलसी ठाकुर, योगेश्वर गुप्ता, पार्षद गोलू पांडे, पार्षद ममता साहू, शैलेंद्र यादव, कलिंदरी राजवाड़े, महामंत्री मनोज लहरे, राधा मानिकपुरी समेत अन्य उपस्थित रहे।


0 विकास का एक ईंट नही लगा सके, कांग्रेस किस मुंह से मांगेगी वोट


गोपालपुर वार्ड में नुक्कड़ सभा के दौरान मंत्री  देवांगन ने कहा की पहले विधानसभा चुनाव और अब लोकसभा में वार्डों में हम जा रहे हैं, कहीं की जनता ने आजतक ये नहीं कहा की सांसद ने कोई काम भी कराया हो, काम तो दूर की बात, जनता को पांच साल में दर्शन तक नहीं दिया।


0 सरोज दीदी बनेंगी दिल्ली तक कोरबा की आवाज

 सियाहिमुडी में आयोजित नुक्कड़ सभा को संबोधित करते मंत्री  देवांगन ने कहा की कोरबा की आवाज बीते 5 साल में कोरबा से आगे नहीं जा सकी, वजह यहां की सांसद ज्योत्सना महंत की कोरबा से गायब रहना, कोई जनप्रतिनिधि लोगों के बीच रहेगा ही नहीं तो उसे समस्या कैसे पता होगा, सरोज दीदी के जितने के बाद दिल्ली तक वो हमारी आवाज बनकर जाएंगी, आपकी जो भी समस्या होगी वह तत्काल पूरी होगी।


0/Post a Comment/Comments