13 जून से अंतरिक्ष में फंसी सुनीता विलियम्स, जुलाई में घर वापसी की उम्मीद

Views

 


नेशनल न्यूज़। अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आईएसएस) गए नासा के अंतरिक्ष यात्री वैरी बुल विल्मोर और सुनीता विलियम्स को घर वापसी के लिए और इंतजार करना होगा। तकनीकी खामी के कारण उनकी वापसी टल गई है। हालांकि दोनों खतरे में नहीं हैं। इन्हें ले जाने वाला बोइंग स्टारलाइनर यान 5 जून को लॉन्च हुआ। अगले ही दिन अंतरिक्ष स्टेशन के साथ डॉक हो गया। तय कार्यक्रम के अनुसार इन्हें 13 जून को लौटना था, लेकिन इसे दो बार टाला जा चुका है। स्पेसक्राफ्ट में हीलियम लीक हो रही है। आइए जानते हैं वापसी में देरी के तकनीकी कारण क्या हैं और लौटने की प्रक्रिया क्या है…

स्पेसक्राफ्ट में क्या तकनीकी समस्या है.?

स्पेसक्राफ्ट में हीलियम लीक की समस्या आई है। पांच मैनुवरिंग थ्रस्टर फेल गए और एक प्रपैलेंट वॉल्व पूरी तरह से बंद नहीं हो रहा है। इसलिए नासा और बोइंग ने वापसी टाली।

यान अंतरिक्ष में कब तक रह सकता है?

स्पेसक्राफ्ट जब अंतरिक्ष स्टेशन से जुड़ता है तो उसे डॉकिंग कहते हैं। इसी से यात्री स्पेस स्टेशन में जाते हैं। अनडॉकिंग में यान स्पेस स्टेशन से अलग होता है, जो पृथ्वी पर वापसी का पहला चरण है। डॉकिंग 45 दिन तक हो सकती है। इसे 72 दिन तक बढ़ा सकते हैं।

क्या पहले भी अंतरिक्ष में ऐसा हुआ हुआ है?

2020 में अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर गए क्रू ड्रैगन के मिशन की वापसी 62 दिन बाद हुई। तब आईएसएस पर मेंटेनेंस स्टाफ कम था।

क्या यह खामी ठीक हो सकती है?

नासा और बोइंग की ओर से कहा गया है कि इसे ठीक कर रहे हैं। थ्रस्टर्स के ठीक होने के संकेत मिले हैं। इस संभावना पर विचार किया जा रहा है कि सॉफ्टवेयर अपडेट करके ठीक कर सकते हैं या हार्डवेयर को बदलकर। हालांकि आपात स्थिति में खामियों के बावजूद स्टारलाइनर वापस आने में सक्षम है।

इसमें कितना समय लग सकता है?

नासा ने इस पर कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है। संभावना है कि अगली कोशिश 2 जुलाई को हों सकती है। ऐसा होता है तो आठ दिन का तय मिशन एक महीने में पूरा होगा।

अंतरिक्ष से वापसी कैसे होती है?

आईएसएस से अनडॉक होकर यान धरती की ओर बढ़ेगा। 6 घंटे में अमेरिका के न्यू मैक्सिको के व्हाइट सैंड्स स्पेस हार्बर पर लैंड होगा।

अगर स्टारलाइनर ठीक न हुआ. तो ?

विकल्प के तौर पर इलॉन मस्क के स्पेस एक्स के ‘क्रू ड्रैगन’ अंतरिक्ष यान से वापसी हो सकती है। यह मार्च में 4 यात्रियों को लेकर आईएसएस गया था और लौट आया था। यह आपात स्थिति में अधिक लोगों को लाने में पूरी तरह सक्षम है।

0/Post a Comment/Comments

Ads 1

Ads1

Ads 2

Ads2