नाबालिग ने 9 साल के भाई को बेरहमी से उतारा मौत के घाट, खौफनाक तरीके से हत्या को दिया अंजाम

Views

 




बालोद। जिले में 9 साल के बच्चे के गले में लोहे की रॉड डालकर बेरहमी से हत्या करने का मामला सामने आया है। मासूम की हत्या का आरोपी उसका नाबालिग चचेरा भाई है। जिसे पुलिस अभिरक्षा में भेज दिया गया है। दोनों बच्चों के बीच गाली-गलौज और पारिवारिक विवाद होने के कारण नाबालिग ने वारदात को अंजाम दिया है। यह मामला अर्जुन्दा थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के अनुसार, अर्जुंदा क्षेत्र के चीचा गांव निवासी तोरण लाल साहू (10) पुत्र केमन साहू गांव में स्थित प्राथमिक स्कूल में कक्षा चौथी में पढ़ाई करता था। 31 जनवरी को वह स्कूल में दोपहर में मध्यान भोजन करने के बाद वह अपने क्लास के एक बालक के साथ शौच करने स्कूल से लगभग 200 मीटर दूर स्थित तालाब की ओर गया। स्कूल की घंटी बजने पर उसका साथी वापस लौटकर आ गया लेकिन तोरण वापस नहीं लौटा।

बताया जा रहा है कि जब स्वीपर स्कूल बंद करने गया, तब तोरण का बैग क्लास में पड़ा देखा। इसकी जानकारी स्वीपर ने उसके घरवालों को दी। तोरण दोपहर करीब 1 बजे से स्कूल से निकला था। शाम तक जब वह घर नहीं पहुंचा तो परिजन उसकी तलाश में निकले। तलाश के दौरान देर शाम तोरण का शव स्कूल कैंपस से लगे गौठान के निर्माणाधीन भवन में मिला। सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची तो ग्रामीण आक्रोशित हो गए। उन्होंने हत्यारे को पकड़ने की मांग करते हुए शव ले जाने से रोक दिया। किसी तरह से अफसरों ने उन्हें समझाया और शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा।

पुलिस पूछताछ में पता चला कि केमन साहू का उसके बड़े भाई से विवाद है। इसे लेकर कोविड के दौरान दोनों परिवारों में कुल्हाड़ी और लाठी-डंडे से मारपीट भी हुई थी। इसके बाद पुलिस बड़े भाई के परिवार तक पहुंची तो पता चला कि 14 साल का उनका बेटा गायब है। पुलिस ने आसपास जानकारी जुटाई तो पता चला कि नाबालिग आरोपी गांव में ही घूमता हुआ देखा गया था। इसके बाद पुलिस ने तलाश कर उसे पकड़ लिया। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि तोरण और उसके बीच झगड़ा हुआ। तोरण ने गाली दी तो उसने हत्या कर दी।

0/Post a Comment/Comments