पहली बार नहीं देश में तीसरी बार हो रहा है स्पीकर का चुनाव,जानें कब-कब हुए लोकसभा अध्यक्ष पद के लिए चुनाव

Views


 नई दिल्ली। 2024 की 18वीं लोकसभा में स्पीकर के लिए पहली बार चुनाव नहीं है, पहली लोकसभा में 1952 में भी लोकसभा अध्यक्ष के लिए चुनाव हुआ था,  हालांकि यह एक औपचारिकता भर था, क्योंकि तब कांग्रेस को बहुमत था‌।

कांग्रेस की ओर से प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु ने जीवी मावलंकर का नाम स्पीकर पद के उम्मीदवार के तौर पर प्रस्तावित किया था, वे 1946 से सैंट्रल लेजेस्लेटिव एंसेबली के स्पीकर थे। संसदीय कार्य मंत्री सत्यनारायण सिन्हा ने इसका समर्थन किया‌।

वहीं एके गोपालन ने शंकर शांताराम मोरे का नाम स्पीकर पद के उम्मीदवार के तौर पर प्रस्तावित किया, टीके चौधरी ने इसका अनुमोदन किया था, बाद में मत विभाजन कराया गया. मावलंकर के पक्ष में 394 वोट आए जबकि विरोध में 55 वोट आए, दिलचस्प बात यह है कि शंकर शांताराम मोरे ने भी मावलंकर के पक्ष में वोट डाला‌।

दूसरी बार पांचवी लोकसभा में 1976 में आपातकाल के समय भी स्पीकर के लिए चुनाव हुआ था, तब बलीराम भगत और जगन्नाथ राव के बीच मुकाबला हुआ था, इसमें बलीराम भगत की जीत हुई थी। इस तरह स्वतंत्र भारत के इतिहास में यह ओम बिड़ला और के. सुरेश के बीच तीसरी बार स्पीकर पद के लिए मुकाबला होगा।

0/Post a Comment/Comments

Ads 1

Ads1

Ads 2

Ads2