नारायण सेवा संस्थान का नारायण लिंब फिटमेंट शिविर 30 जून को

Views

 


जैन दादा बाड़ी में 750 से ज्यादा को लगेंगे नारायण लिम्ब

रायपुर। देश-विदेश में दिव्यांगजनों और मानव सेवा के लिए पहचाने जाने वाले उदयपुर के नारायण सेवा संस्थान द्वारा छत्तीसगढ़ के दिव्यांगों के लिए 30 जून को निःशुल्क नारायण लिम्ब एवं कैलीपर्स फिटमेंट का विशाल शिविर रायपुर में आयोजित होगा। यह शिविर जैन दादा बाड़ी, एमजी रोड़ रायपुर में 30 जून को प्रातः 8ः00 बजे से सायं 6:00 बजे तक चलेगा। 
 
प्रेस क्लब में आयोजित प्रेस वार्ता में संस्थान ट्रस्टी निदेशक देवेंद्र चैबीसा ने जानकारी देते हुए कहा संस्थान विभिन्न राज्यों के दिव्यांग बन्धुओं को उनके घर शहर के नजदीक लाभान्वित करने के लिए विगत 39 वर्षों से प्रयासरत हैं। इसी शृंखला में नारायण सेवा ने 17 मार्च को निःशुल्क नारायण लिंब मेजरमेंट कैंप का आयोजन जैन दादा बाड़ी में किया था। जिसमें 1500 से अधिक रोगी आए थे। इनमें से 750 जन ऐसे थे जो सड़क दुर्घटना या किसी हादसे से हाथ-पैर खोकर दिव्यांगता का शिकार हो गए थे। उनका चयन करते हुए संस्थान ने नारायण लिम्ब के लिए मेजरमेंट लिया। शिविर के उद्घाटन और भव्यता के लिए मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री, कैबिनेट मंत्री और शहर के सभी विधायकों सहित कई समाज सेवी सज्जनों को आमंत्रित किया गया है। 
 
मीडिया एवं जनसंपर्क प्रमुख भगवान प्रसाद गौड़ ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा संस्थान का नारायण लिंब मोड्युलर है। यह उन्नत टेकनिक से निर्मित है। ये लिंब टिकाऊ, वजन में हल्का और दिव्यांगों की स्थिति व सुविधाजनक सिद्ध होगा। रायपुर में पहली बार संस्थान एक साथ 750 से ज्यादा दिव्यांगों को नारायण लिम्ब पहनाकर उन्हें नई जिंदगी का उपहार देगा।यह सभी दिव्यांग अपनी दिव्यांगताभरी जिंदगी के चलते अपने परिवार और परिजनों पर बोझ बन गए थे। संस्थान उन्हें आत्मनिर्भर बनाकर समाज की मुख्यधारा में ला रहा है।शिविर में आने वाले दिव्यांगों के लिए संस्थान की ओर से निःशुल्क भोजन की व्यवस्था रहेगी। इन दिव्यांगों को नारायण लिम्ब फिटमेंट के बाद चलने की सुव्यस्थित ट्रेनिंग दी जाएगी। इस हेतू संस्थान की 80 सदस्य टीम सेवाओं में तत्पर रहेगी। शिविर में रायपुर के विभिन्न संगठनों के स्वंयसेवी भी सेवाएं प्रदान करेंगे। संस्थान का यह शिविर दिन भर चलेगा। शिविर चयनित दिव्यांगों को सुव्यवस्थित लिंब फीटिंग,ट्रेनिग व प्रेरणा देकर उन्हें शारीरिक व मानसिक रूप से सक्षम व समर्थ की मुहिम है। संस्थान अध्यक्ष प्रशांत अग्रवाल उदयपुर से आकर इस शिविर में मौजूद रहेगें। 
 
इस दौरान ट्रस्टी देवेंद्र चौबिसा, मीडिया प्रमुख भगवान प्रसाद गौड़,रायपुर आश्रम प्रभारी भरत पालीवाल और भँवरसिंह राठौड़ ने शिविर का पोस्टर जारी किया। 
 
शिविर में स्थानीय संगठन भगवान महावीर जन्मकल्याणक,  ऋषभदेव मन्दिर,दादाबाड़ी रायपुर,भारतीय जैन संगठना,दिगम्बर जैन सोशल ग्रुप,जय आनन्द युवा संघ,रायपुर केरला समाजम,आरोग्य हॉस्पिटल शंकरनगर,राजश्री चायपत्ती, राजश्री इंटरप्राइजेज,मानव सेवा मंगल भवन, छत्तीसगढ़ गोंड समाज कल्याण समिति, छत्तीसगढ़ प्रदेश साहु संघ, अग्रवाल सभा,छत्तीसगढ़ सर्व नाई समाज, मां खारुन गंगा महाआरती महादेव घाट, राणाजी वेलफेयर फाउंडेशन, मंगलमय, अखंड ब्राह्मण समाज सेवा समिति छत्तीसगढ़, नवसृजन मंच छत्तीसगढ़, वसुधैव कुटुंबकम,सार्थक क्रिएटिव ऑर्गनाइजेशन, छत्तीसगढ प्रदेश स्वास्थ्य नर्सिंग संगठन, स्पर्श एक कोशिश वेलफेयर फाउंडेशन,श्रीराम जी की सेना, ऊँ मण्डली, मणिकार्णिका विंग सहित 25 से अधिक समाज सेवी संघ जुड़े है।
 
नारायण सेवा संस्थान 1985 से नर सेवा-नारायण सेवा की भावना से काम कर रहा है। संस्थापक कैलाश मानव को राष्ट्रपति महोदय ने मानव सेवा के लिए पद्मश्री पुरस्कार से नवाजा है। संस्थान के अध्यक्ष प्रशान्त अग्रवाल दिव्यांगों के लिए मेडिकल, शिक्षा, कौशल विकास और खेल अकादमी के माध्यम से मानसिक,शारीरिक एवं आर्थिक दृष्टि से मजबूत कर लाखों दिव्यांगों को समाज की मुख्यधारा में ला चुके है। वर्ष 2023 में अग्रवाल को राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। संस्थान अब तक 45200 से अधिक नारायण लिम्ब लगा चुका है। संस्थान अब छत्तीसगढ़ के दिव्यांगों को निःशुल्क नारायण लिम्ब प्रदान कर उनकी रुकी जिन्दगी को फिर से शुरू करने के लिए बड़े स्तर पर काम करेगा।

0/Post a Comment/Comments

Ads 1

Ads1

Ads 2

Ads2