भठोरा पंचायत सचिव गेंदलाल साहू एवं अमेराडीह सचिव ने किया आदर्श आचार संहिता का उलंघन,कलेक्टर के सख्त निर्देश होने के वावजूद सचिवालय मुख्यालय रखते हैं बंद

Views


पंचायत भवन सचिवालय में जड़ा है ताला,ग्राउंड रिपोर्ट की खबर।


मालखरौदा/मालखरौदा जनपद पंचायत के ग्राम पंचायत भठोरा सचिव गेंदराम साहू एवं ग्राम पंचायत अमेराडीह सचिव अशोक कुमार चन्द्रा के सचिवालय इसी तरह हमेशा बंद पाया जाता है सचिव साहब सचिवालय पंचायत खोलने के बजाय कहाँ विचरण करते हैं किसी को पता नहीं चलता सचिव के कार्यशैली से ग्रामीणों में खासा रोष व्याप्त है सचिवालय पंचायत भवन का जब ग्राउंड जीरो के तहत रिपोर्टिंग कवरेज करने गया तो देखा कि दिनांक 28 मार्च को सुबह 11 बजे से 1 बजे तक कार्यालयीन समय में सचिव के सचिवालय में ताला लगा हुआ था सचिव को आचार संहिता लागू होने के वावजूद सचिवालय खोलना उचित नहीं समझते हैं जबकि प्रशासन का सख्त निर्देश है कि किसी भी कर्मचारियों को आचार संहिता में कोई छुट्टी अवकाश नहीँ मिलेगा यदि अति आवश्यक हो तभी जिला कलेक्टर से ही अवकाश मिल सकता है, फिर भी सचिव को जिला प्रशासन का कोई भय नहीं है जिसके कारण सचिव सचिवालय में ताला लगाकर कहा घूमते हैं किसी ग्रामीणों जनो को पता नहीं होता। भठोरा के ग्रामीणों एवं  पंचायत भवन परिसर में लगे बोर नल में नहा धो रहे बच्चों ने बताया की सचिव का हर रोज का यही हाल है जो कभी कभार पंचायत भवन सचिवालय खोलता है बांकी हर रोज बंद रहता है बोर में नहा रहे बच्चों ने यहाँ तक बताया की सचिव गेंदराम साहू पैसा खाता है चाहे प्रधानमंत्री आवास का पैसा हो या अन्य किसी योजना का हो बिना पैसे के यह सचिव काम नहीं करता हम ग्रामीण लोग इस सचिव से परेशान हो चुके हैं इसे यहाँ से जल्द हटवा देगें पत्रकार महोदय और अच्छा पेपर छाप देगें यह 10,12 साल के बच्चों ने कहा,कितने विडम्बना की बात है कि सचिव गेंदलाल साहू के भ्रष्ट कार्यशैली को पंचायत के बच्चा बच्चा को पता है।


इसी तरह ग्राम पंचायत अमेराडीह सचिव अशोक कुमार चन्द्रा जी का हाल है यहाँ के सचिवालय को तो देखें कोई साफ सफाई तक नही है परिसर में गंदगी फैला हुआ है।


लोकसभा निर्वाचन 2024  को लेकर जिला कलेक्टर का बिना अनुमति के अवकाश पर नहीँ जायेगे अधिकारी कर्मचारी शासन के सभी अधिकारियो कर्मचारियों के अवकाश पर प्रतिबंद लगाया गया है सभी को अपने मुख्यालय में रहने का सख्त आदेश हैं फिर भी यह सचिव जिला निर्वाचन अधिकारी के आदेशों का अव्हेवलना कर रहे हैं।




नीचे देखे जिला कलेक्टर के 16 मार्च 2024 के निर्देश पढ़े....

लोकसभा निर्वाचन 2024



बिना अनुमति के अवकाश पर नहीं जाएंगे अधिकारी-कर्मचारी




अधिकारियों कर्मचारियों के अवकाश पर प्रतिबंध




          सक्ती 16 मार्च 2024/ कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अमृत विकास तोपनो  ने लोकसभा निर्वाचन 2024 के अंतर्गत आदर्श आचरण संहिता प्रभावशील होने के तहत शासकीय अधिकारियों-कर्मचारियों के बिना अनुमति के अवकाश पर प्रस्थान करने पर प्रतिबंध लगाया है। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने आगामी लोकसभा निर्वाचन 2024 की घोषणा दिनांक से ही आदेश जारी किया है कि सक्ती जिले के अंतर्गत समस्त शासकीय एवं राज्य शासन के विभागीय इकाईयों, उपक्रमों के अमलों के अवकाश की स्वीकृति हेतु कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी जिला सक्ती से अनुमति के पश्चात ही अवकाश की पात्रता होगी। साथ ही कोई भी जिला स्तरीय अधिकारी, कर्मचारी अवकाश स्वीकृति होने के पश्चात ही अवकाश पर जा सकते हैं। जिले में पदस्थ अधिकारियों, कर्मचारियों को आदेशित किया गया है कि वे कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी के पूर्वानुमति के बिना न तो अवकाश पर प्रस्थान करेंगे और न ही मुख्यालय छोडेंगे। यह आदेश तत्काल प्रभावशील किया गया है।


0/Post a Comment/Comments