दक्षिण गाजा में इजरायली सेना की स्कूलों पर एयरस्ट्राइक, 47 लोगों की मौत

Views


 Israel Hamas War: हमास के खात्मे को लेकर जारी इजरायली मिशन ने रविवार को दक्षिणी गाजा के स्कूलों पर एयरस्ट्राइक की है. इस हमले में दर्जनों फिलिस्तीनी नागरिकों की मौत हो गई. इनकी संख्या 47 बताई गई है. रिपोर्ट के मुताबिक,इन लोगों ने दक्षिण गाजा के स्कूलों में शरण ले रखी थी. इस हफ्ते की शुरुआत में पर्चे गिराने के बाद, इजरायल ने शनिवार को फिर से दक्षिणी गाजा के कुछ हिस्सों में नागरिकों को स्थानांतरित होने की चेतावनी दी क्योंकि वह उत्तर को अपने अधीन करने के बाद छोटे तटीय क्षेत्र के उस हिस्से पर हमले की तैयारी कर रहा है.

स्कूलों में ले रखी है हजारों लोगों ने शरण

फिलिस्तीनी शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र सहायता संगठन, यूएनआरडब्ल्यूए के आयुक्त-जनरल फिलिप लाजारिनी ने एक्स पर बताया कि इजरायली सेना ने यूएन द्वारा संचालित दो स्कूलों को निशाना बनाया है. इजरायली हमलों में दर्जनों लोगों की मौत हो गई इसमें कई बच्चे शामिल हैं. उन्होंने कहा कि 24 घंटे में स्कूलों को दूसरी बार टारगेट किया गया. यह सरासर अमानवीयता है. यह रुकनी चाहिए. फिलिफ ने बताया कि इन स्कूलों में 4000 से ज्यादा लोगों ने शरण ले रखी है.

हमारे लोगों पर बंद हो ये नरसंहार


गाजा के हमास प्रशासित स्वास्थ्य मंत्रालय ने दावा किया है कि स्कूलों पर इजरायली कार्रवाई में 200 लोगों की जान गई है. इस मसले पर इजरायल की ओर से अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. वहीं फिलिस्तीनी वेस्ट बैंक अथॉरिटी के प्रेसिडेंट महमूद अब्बास ने शनिवार को अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन से फोन पर बात की. उन्होंने बाइडन से इस जंग को रोकने का आग्रह किया. फिलिस्तीनी टीवी पर प्रसारित हो रहे भाषण में उन्होंने कहा कि सैकडों मजबूर विस्थापित लोग जो स्कूलों की शरण में थे वे इजरायली कार्रवाई में मारे गए हैं. उन्होंने बाइडन और वैश्विक नेताओं से अपील की गाजा में हमारे लोगों पर हो रहे नरसंहार को रोकने में मदद करें.

जबरन दक्षिण की ओर जाने पर विवश


उत्तरी गाजा में अपने कब्जे के बाद इजरायली सेना अब दक्षिण की ओर बढ़ रही है. उसे यहां के कुछ हिस्सों में हमास के ठिकाने होने का शक है. फिलिस्तीनी लोगों का आरोप है कि इजरायली सेना ने गाजा के अल शिफा अस्पताल पर कब्जा जमाने के बाद वहां के स्टाफ, मरीजों को जबरन निकाला और उन्हें पैदल ही दक्षिण की ओर जाने पर मजबूर कर दिया. इजरायली सेना ने इस तरह के आरोपों से इंकार किया है. इजरायली सेना के रियर एडिमरल हगारी ने कहा कि हमने नागरिकों के दक्षिणा गाजा जाने के लिए सुरक्षित मानवीय गलियारा खोला है.

0/Post a Comment/Comments